Corona Virus (covid-19) के क्या है लक्षण और इनसे कैसे बचा जा सकता है

corona virus,covid-19

दुनियाभर मे corona virus के वजह से 1 लाख 28 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा बैठे है. और 20 लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमित लोग है. तो चलिये कोरोना अपने शरीर मे कैसे फैलता है और इससे कैसे बचाव किया जा सकता है. जानते है पूरी विस्तार से :-
corona virus अपने फेफड़ो को संक्रमित करता है.और इसके दो मेन लक्षण है 1)बुखार 2)सुखी खांसी. कई बार व्यक्ति को सांस लेने मे भी दिक्कत होती है. corona virus से आने वाली खांसी आम खांसी नहीं होती. इसके कारण लगातार खांसी होती है. अगर खांसी मे बलगम आता है तो ये चिंता की बात है.
कोरोना के कारण शरीर का तापमान 37.8 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ सकता है जिस कारण व्यक्ति का शरीर गर्म हो सकता है और ठंड बजने लगती है. व्यक्ति को शरीर मे कंपकंपी महसूस हो सकती है.इसके कारण गले मे खराश,सिरदर्द और डायरिया भी हो सकता है.हाल मे हुये ताजा संशोधन के अनुसार खाने मे स्वाद का महसूस न होना और किसी चीज की गंध का भी महसूस न होना ये भी corona virus के लक्षण हो सकते है.
WHO (विश्व स्वास्थ संगठन) के अनुसार corona virus के शरीर मे पहुँचने और लक्षण दिखने के बीच 14 दिनों तक का टाइम लगता है.कुछ व्यक्ति के शरीर के रोगप्रतीकार शक्ति के अनुसार ये दिन कम-जादा हो सकते है.बहुत से व्यक्ति अधिकतर आराम करने और मलेरिया के दवा लेने से ठीक होते है.
अस्पताल मे जब व्यक्ति को सांस लेने मे दिक्कत हो तभी उसको वेंटीलेटर पे रखा जाता है. तब उस व्यक्ति के फेफड़ो मे कितना संकर्मण हुआ है ये पता करना होता है.
भारत मे स्वास्थ एंव परिवार कल्याण की वैबसाइट  मे ( https://www.mohfw.gov.in/ ) corona virus के संक्रमन से जुड़ी सभी जानकारी दी जाती है. अगर मरीज को सांस लेने मे दिक्कत हो तो भारत सरकार के हेल्पलाइन नंबर +91-11-23978046, Facebook , Whatsapp , या फिर24 घंटे चलने वाले 1075 पर कॉल कर सकते  है.
WHO (विश्व स्वास्थ संगठन) ने 50000 हजार लोगो पर किए आध्ययन के अनुसार सिर्फ 6% लोंग corona virus से गंभीर बीमार हो गए है.इनमे फेफड़े फेल होना,सेप्टिक शॉक,ऑर्गन फेल होना और मौत का जोखिम था.14% लोंगों मे सांस लेने मे दिक्कत जैसी पैसा हुई है.और 80% लोंगों मे corona virus के संक्रमन के मामूली लक्षण देखे गए,उनमे बुखार और खांसी,नीमोंनिया जैसी बीमारी थी.
सबसे अहम बात ये है की जिन व्यक्ति को पहले से ही मधुमेह,हृदयरोग जैसी बीमारी है, उनको संक्रमन से ज्यादा खतरा होने की आशंका रहती है.
जब कोई corona संक्रमित व्यक्ति खाँसता है या छिकता है तो उसके थूक से बहुत बारीक कण हवा मे आ जाते है और उन कणो मे कोरोना विषाणु रहते है. संक्रमित व्यक्ति के पास जाने पर वो विषाणु अपने शरीर मे सांस के रास्ते प्रवेश करते है.अगर आप ऐसी कोई वस्तु,जगह को छूते है जहा ये कण गिरे हो और उसी हाथ को जब अपने आँख,नाक,मुँह को छूते है तो ये विषाणु अपने शरीर मे प्रवेश करते है.
corona virus से दूर रहने के लिए भारत सरकार ने कई बार बताया है और टीवी मे भी विज्ञापन चालू है फिर भी बार बार हाथ साबुन से धोते रहिए,खांसी और छिकने के वक़्त टिशू पेपर या रुमाल का इस्तेमाल मुह को ढकने के लिए करे. हाथ बिना न धोये अपने चेहरे के पास न ले जाइए. बीमार व्यक्ति के पास जाने से बंचे. और सबसे खास बात जो सरकार जो भी आदेश दे रही है  उसका पालन कीजिये. घर से बाहर न निकले. घर मे सुरक्षित रहे और अपने फॅमिली को भी सुरक्षित रखिए. 

Post a comment

0 Comments